रूस में पायलट ने मक्के के खेत में विमान को उतार बचाई 233 लोगों की जान

रूस की राजधानी मास्को में एक बड़ा विमान हादसा टल गया।

जब कई पक्षी विमान के इंजन में फंस गए, तो विमान में मौजूद 233 लोगों की जान को भी खतरा था।

पायलट ने समझदारी से काम लिया और विमान को मकई के खेत में उतारा।

रूसी मीडिया और लोग पायलट दामिर यूसुपोव को हीरो कह रहे हैं।

रूस की राजधानी मास्को में एक बड़ा विमान हादसा टल गया। गुरुवार को हवाई अड्डे से उड़ान भरते हुए एक विमान पक्षियों के झुंड में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। जब कई पक्षी विमान के इंजन में फंस गए, तो विमान में मौजूद 233 लोगों की जान को भी खतरा था।

ऐसे कठिन समय में, पायलट ने समझदारी से काम लिया और विमान को एक मकई के खेत में उतारा। जिससे सभी यात्रियों की जान बच गई। हालांकि, पांच बच्चों सहित 23 यात्रियों को मामूली चोटें आईं।

स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, यूराल एयरलाइंस के विमान एयरबस 321 ने शहर के ज़ुकोव्स्की हवाई अड्डे से क्रीमिया फेरोपोल के लिए उड़ान भरी। कुछ ही समय बाद, पक्षियों का झुंड उससे टकरा गया। विमान के दोनों इंजनों में पक्षी फंस गए, जिसके कारण इंजन बंद हो गए। पायलट ने विमान को ज़ुकोव्स्की हवाई अड्डे से एक किलोमीटर दूर मकई के खेत में उतारा।

रूसी मीडिया और लोग पायलट दामिर यूसुपोव को हीरो कह रहे हैं। लोगों का कहना है कि दामीर किसी सुपरहीरो से कम नहीं है, उसने 233 लोगों की जान बचाई है। वहीं, रूसी मीडिया का कहना है कि इंजन फेल होने की स्थिति में मक्का का मैदान में विमान को विवेकहीनता के साथ उतारा। जिसकी सराहना की जानी चाहिए।